डेली  करंट अफेयर MCQ , 16 फरवरी 2021

डेली करंट अफेयर MCQ , 16 फरवरी 2021

 1. 11 वां राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन कहाँ किया जाएगा ? 

( a ) बिहार 

( b ) गुजरात 

(c ) राजस्थान 

(d ) पश्चिम बंगाल

2.  भारत का पहला पूर्ण अंतर्राष्ट्रीय क्रूज टर्मिनल किस राज्य में स्थित है?

( a ) केरल 

( b ) पश्चिम बंगाल 

( c ) तमिलनाडु 

(d ) आन्ध्र प्रदेश

3. हाल ही में 550 मिलियन वर्ष पुराने जानवर डिकिनसोनिया ( Dickinsonia ) का जीवाश्म कहाँ पाया गया है ? 

( a ) भीमबेटका 

( b ) इंदौर 

( c ) मैसूर 

( d ) राजगीर

4. International Childhood Cancer Day कब मनाया जाता है ? 

( a ) 13 फरवरी 

( b ) 14 फरवरी 

( c ) 15 फरवरी 

( d ) 16 फरवरी

5. पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व . सुषमा स्वराज की प्रतिमा मध्य प्रदेश में कहाँ स्थापित किये जाने की घोषणा की गई है ? 

( a ) सागर 

( b ) रायसेन 

( c ) गुना 

( d ) विदिशा

6. ट्रायल बेसिस पर भारत का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर कहाँ स्थापित किया जाएगा ? 

( a ) नई दिल्ली 

( b ) चेन्नई 

( c ) चंडीगढ़ 

( d ) हैदराबाद

7. खबरों में रहा Institute of Cost Accountants of India ( ICAI ) है ?

( a ) वैधानिक निकाय 

( b ) संवैधानिक निकाय 

( c ) गैर - लाभकारी संगठन 

( d ) गैर - सरकारी संगठन

8. 26 वें संयुक्त राष्ट्र क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष कौन हैं ? 

( a ) रिद्धिमा पाण्डेय 

( b ) इसरा हिर्सी 

( c ) आलोक शर्मा 

( d ) प्रज्ञा सिन्हा

9. अंडर -14 यूनिवर्सल टेनिस रेटिंग रैंकिंग में विश्व का नंबर 1 खिलाड़ी कौन बन गया है ? 

( a ) जील देसाई 

( b ) मानस धामने 

( c ) कोरी गौफ 

( d ) महक जैन

10. कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चित्तौरा झील के विकास कार्य की आधारशिला रखेंगे । यह झील उत्तर प्रदेश के किस जिले में स्थित है ? 

( a ) बस्ती 

( b ) बहराइच 

( c )गोंडा 

( d ) वाराणसी

Q1 Ans (d)

 11 वाँ राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन पश्चिम बंगाल में किया जा रहा है 14 फरवरी से शुरू हुआ यह महोत्सव 28 फरवरी तक मनाया जाएगा यह पश्चिम बंगाल में तीन जगहों - कूचबिहार , दार्जिलिंग एवं मुर्शीदाबाद में आयोजित किया जा रहा है यह संस्कृति मंत्रालय का प्रमुख महोत्सव है इस महोत्सव की शुरुआत 2015 में हुई थी

Q2. Ans (a)

हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने केरल में भारत के पहले पूर्ण अंतर्राष्ट्रीय क्रूज टर्मिनल का उद्घाटन किया इस टर्मिनल का नाम ' सागरिका ' है यह कोच्ची बंदरगाह पर स्थित है इसमें सभी अत्याधुनिक सुविधाएँ हैं इसके निर्माण में ₹ 25.72 करोड़ का खर्च आया है जानकारों के मुताबिक इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा एवं यह रोजगार सृजन में अहम भूमिका निभाएगा 

Q3. Ans (a)

बीते दिनों शोधकर्ताओं ने 550 वर्ष मिलियन पुराने जानवर Dickinsonia के तीन जीवाश्म पाये हैं यह जीवाश्म भीमबेटका रॉक शेल्टर्स में पाया गया है यह शोध गोंडवाना रिसर्च नामक एक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है इस जीवाश्म को भीमबेटका का auditorium cave में देखा जा सकता है भीमबेटका की गुफाएँ मध्यप्रदेश में स्थित हैं इस गुफा की पेंटिंग लगभग 30,000 साल पुरानी है गौरतलब है कि भीमबेटका रॉक शेल्टर्स यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थल में शामिल है

Q4. Ans (c)

हर साल 15 फरवरी को International Childhood Cancer Day मनाया जाता है इसका मकसद है चाइल्डहुड कैंसर के प्रति लोगों में जागरुकता फैलाना विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2018 में GICC यानी Global Initiative for Childhood Cancer लॉन्च किया था इस पहल का मकसद 2030 तक कैंसर से पीड़ित कम से कम 60 % बच्चों को जीवित रखना है

Q5. Ans (d)

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान ने घोषणा की कि विदिशा के टाउन हॉल में श्रीमती सुषमा स्वराज की प्रतिमा स्थापित की जाएगी मुख्यमंत्री ने स्व . श्रीमती सुषमा स्वराज की जयंती पर यह घोषणा की आपको बता दें कि सुषमा स्वराज विदिशा रायसेन संसदीय क्षेत्र से सांसद रही थीं

Q6. Ans (c)

ट्रायल बेसिस पर देश का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर चंडीगढ़ में लगाया जाएगा यह आस - पास के कम - से - कम 1 किलोमीटर तक के क्षेत्र की हवा को प्यूरीफाई करेगा यह एयर क्वालिटी इंडेक्स भी बतायेगा यह प्यूरीफायर इलेक्ट्रिसिटी के जरिये चलेगा

Q7. Ans (a)

ICAI यानी Institute Of Cost Accountants of India का नाम बदलने पर विचार किया जा रहा है दरअसल केन्द्रीय वित्त मंत्री ने इसका नाम बदलकर Institute of Cost and Management Accountants रखने का विचार रखा है इसके नाम बदलने के पीछे का कारण यह बताया जा रहा है कि दुनिया भर में लोग ऐसी संस्थाओं को Cost and Management Accountants के नाम से ही जानते हैं यह संस्था संसदीय कानून के तहत बनाई गई है इसीलिये यह एक वैधानिक निकाय ICAI का मकसद देश में Cost and Management Accountany के प्रोफेशन को बढ़ावा देना एवं रेगुलेट करना है

Q8. Ans (c)

26 वें संयुक्त राष्ट्र क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष आलोक शर्मा हैं आलोक शर्मा जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भारतीय नेताओं से बात करने के लिए दो दिवसीय दौरे पर भारत आये हैं वह भारत के प्रमुख मंत्रियों एवं व्यवसाय और सिविल सोसाइटी के लोगों से मिलेंगे जिसका मकसद भारत और यूनाइटेड किंगडम के बीच क्लाइमेट पार्टनरशिप को मजबूत करना और इस साल के अंत में होने वाले 26 वें संयुक्त राष्ट्र क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस की तैयारी करना है 26 वें संयुक्त राष्ट्र क्लाइमेट चेंज कॉन्फ्रेंस का आयोजन स्कॉटलैंड के ग्लासगो में होगा

Q9. Ans (b)

पुणे के रहने वाले मानस धामने अंडर -14 यूनिवर्सल टेनिस रेटिंग रैंकिंग में विश्व के नंबर 1 खिलाड़ी बन गये हैं यूनिवर्सल टेनिस रेटिंग 16 पॉइंट ग्लोबल टेनिस रेटिंग प्रणाली है वर्तमान मानस धामने के इस रेटिंग में 11.36 पॉइंट हैं

Q10. Ans (b)

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कल यानी 16 फरवरी को ' महाराजा सुहेलदेव स्मारक ' और चित्तौरा झील ' के विकास कार्य की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिलान्यास करेंगे यह कार्यक्रम महाराजा सुहेलदेव की जयंती के मौके पर उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में आयोजित किया जा रहा है इस परियोजना में महाराजा सुहेलदेव की एक घोड़े पर सवार प्रतिमा की स्थापना , कैफेटेरिया , अतिथि गृह और बच्चों के पार्क जैसी अलग - अलग पर्यटक सुविधाओं को शामिल किया गया है चित्तौरा झील बहराइच जिले में स्थित है












 भारत ने सीरिया को 2000 मीट्रिक टन चावल भेंट किए

भारत ने सीरिया को 2000 मीट्रिक टन चावल भेंट किए

 भारत सरकार ने मध्य पूर्व के देशों के साथ खाद्य सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सीरिया को 2000 मीट्रिक टन चावल उपहार में दिया। 

प्रमुख बिंदु 

  • विदेश मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि 1000 मीट्रिक टन चावल की पहली भेंट सीरिया को सौंप दी गई है।
  • खेप हिफज़ुर रहमान ने सौंपी थी जो सीरिया में भारत के राजदूत हैं।
  • सीरिया की ओर से, खेप हुसैन मखलौफ को मिली थी जो स्थानीय प्रशासन मंत्री और सुप्रीम रिलीफ कमेटी के प्रमुख हैं।
  • मंत्रालय ने आगे कहा कि, शेष 1000 मीट्रिक टन की खेप 18 फरवरी को सीरिया पहुंच जाएगी।
  • सीरिया की सरकार की तरफ से आपातकालीन मानवीय सहायता के अनुरोध के बाद भारत सीरिया को सहायता प्रदान कर रहा है।

भारत-सीरिया संबंध

  • विदेश मंत्रालय ने कहा कि; भारत हमेशा सीरिया के लोगों के साथ एकजुटता में खड़ा रहा है। सीरिया में विकास और क्षमता निर्माण परियोजना के माध्यम से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध जारी रहे। यह देश में आंतरिक संघर्षों के दौरान भी जारी रहा।

  • भारत ने जुलाई 2020 में सीरिया को COVID सहायता के रूप में 10 मीट्रिक टन दवाएँ भेंट कीं।
  • भारत ने जनवरी 2020 में दमिश्क में कृत्रिम अंग फिटमेंट कैंप का आयोजन किया था। शिविर में 500 से अधिक सीरियाई लोगों को फायदा हुआ था। इस शिविर का आयोजन विदेश मंत्रालय ने भगवान महावीर विकलांग सहयोग समिति के साथ मिलकर किया था।
  •  वर्ष 2018-2019 और 2019-2020 के दौरान, भारतीय विश्वविद्यालयों में स्नातक, परास्नातक और पोस्ट-डॉक्टरल कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए लगभग 1000 सीरियाई छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की गई।
  • भारत दमिश्क में सूचना प्रौद्योगिकी के लिए नेक्स्टजेन सेंटर भी स्थापित कर रहा है। इसके लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है।

जूट बीज वितरण योजना शुरू

जूट बीज वितरण योजना शुरू

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने 15 फरवरी 2021 को  जूट बीज वितरण योजना शुरू की है।

 प्रमुख बिंदु 

  • वाणिज्यिक जूट बीज वितरण योजना को भारतीय जूट निगम और राष्ट्रीय बीज निगम के बीच एक समझौता ज्ञापन (एमओयू)  से शुरू किया गया। 
  • वर्ष 2021-22 में 1 हजार मीट्रिक टन प्रमाणित जूट के बीज के वितरण के लिए वर्ष 2020 में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।
  • केंद्रीय मंत्री ने इस योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने देश में जूट के किसानों की मदद के लिए  न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) भी बढ़ाया है।
  • पिछले 6 वर्षों की अवधि में एमएसपी में लगभग 76 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।
  • वर्तमान में, वित्त वर्ष 2020-21 में जूट के लिए एमएसपी 4 हजार 225 रुपये रखा गया है। वर्ष 2014-15 में 2 हजार 400 के एमएसपी की तुलना में यह कीमत दोगुनी हो गई है।
  • कपड़ा मंत्री ने यह भी कहा कि जूट के बीज का अत्यधिक उत्पादक  पूरे देश में लगभग 5 लाख जूट किसानों की आय बढ़ाने में मदद करेगा।

सरकार द्वारा किये गए विकास

कपड़ा मंत्री ने यह भी कहा कि कृषि मंत्रालय और कपड़ा मंत्रालय दोनों जूट के बढ़ते किसानों को अपना समर्थन देने के लिए तालमेल बढ़ा रहे हैं। हाल ही में, केंद्र ने जूट सामग्री में अनिवार्य पैकेजिंग का निर्णय लिया। इस कदम से 4 लाख से अधिक किसानों को लाभ होगा। यह लगभग 40 लाख कृषि-आधारित घरों में भी मदद करेगा। इसके अलावा, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) के तहत जूट-रिटेनिंग टैंकों की खुदाई को शामिल किया गया है। इस कदम से किसानों के लिए 46 लाख दिन का काम बढ़ाने में मदद मिलेगी।


जूट क्या होता है ?

यह एक प्राकृतिक फाइबर है जिसमें सुनहरा, मुलायम, लंबा और रेशमी चमक होती है। जूट सबसे सस्ता फाइबर है जिसे पौधे के तने की त्वचा से निकला जाता है। जूट को गोल्डन फाइबर भी कहा जाता है। भारत में स्वर्ण फाइबर क्रांति जूट उत्पादन से जुड़ी है। जूट उद्योग भारत के सबसे पुराने कपड़ा उद्योगों में से एक है जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से लोगों का एक बड़ा हिस्सा है

रूस ने Cargo Ship को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में लॉन्च किया

रूस ने Cargo Ship को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में लॉन्च किया

 14  फरवरी, 2021 को  रूस ने एक नई तरह  के कार्गो जहाज को कक्षा (Orbit) में लॉन्च किया। अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) में सात चालक दल के सदस्यों को माल पहुंचाने के लिए इस कार्गो जहाज को लॉन्च किया गया था।


प्रमुख बिंदु 

  •  रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोसमोस ने प्रोग्रेस एमएस -16 कार्गो जहाज लॉन्च किया। इसे प्रगति 77 भी कहा जाता है।
  • इस मालवाहक जहाज को कजाकिस्तान के बैकोनूर कोस्मोड्रोम की साइट 31 से सोयूज रॉकेट का उपयोग करके लॉन्च किया गया।
  • यह मालवाहक जहाज 15 फरवरी, 2021 को आईएसएस पहुंचेगा।
  • यह  लगभग 2,460 किलोग्राम कार्गो और आपूर्ति ले जा रहा है इसमें 1,400 किलोग्राम अनुसंधान और चालक दल की आपूर्ति जैसे कि भोजन और कपड़े शामिल हैं।


सोयूज रॉकेट (Soyuz rocket)

यह 152-फुट लंबा प्रक्षेपण वाहन है जिसमें तीन चरण हैं। रॉकेट आईएसएस तक पहुंचने के लिए एक उत्तर-पूर्वी प्रक्षेपवक्र की ओर बढ़ेगा। रॉकेट के दूसरे चरण जिसे कोर स्टेज भी कहा जाता है,  एक RD-108A इंजन द्वारा संचालित किया गया है। दूसरे चरण को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि यह आरडी -0110 इंजन नामक रॉकेट के तीसरे चरण में जाने से पहले लगभग तीन मिनट तक फायरिंग जारी रखता है।


अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS)

यह एक मॉड्यूलर स्पेस स्टेशन या रहने योग्य कृत्रिम उपग्रह है। इसे  पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किया गया है। यह एक बहुराष्ट्रीय सहयोगी परियोजना है जिसमें पांच अंतरिक्ष एजेंसियों की भागीदारी शामिल है, संयुक्त राज्य अमेरिका से नासा, रूस से रोस्कोस्मोस, जापान से जेएक्सए, यूरोप से ईएसए और कनाडा से सीएसए। स्वामित्व स्थापित करने और नीतियों का उपयोग करने के लिए देशों के बीच अंतर सरकारी संधियों और समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाते हैं। स्टेशन को दो भागों में बांटा गया है। पहला भाग रूसी ऑर्बिटल सेगमेंट (आरओएस) है जो रूस द्वारा संचालित है और संयुक्त राज्य अमेरिका ऑर्बिटल सेगमेंट (यूएसओएस) का दूसरा हिस्सा है जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा अन्य देशों के साथ मिलकर चलाया जाता है।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय फैलोशिप (MGNF) कार्यक्रम शुरू

महात्मा गांधी राष्ट्रीय फैलोशिप (MGNF) कार्यक्रम शुरू

 कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (Ministry of Skill Development and Entrepreneurship) ने हाल ही में भारत के सभी जिलों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय फैलोशिप (MGNF) कार्यक्रम शुरू किया है।


प्रमुख बिंदु 

  • यह कार्यक्रम पहले 69 जिलों में काम कर रहा था।
  • महात्मा गांधी राष्ट्रीय फैलोशिप के तहत अध्येताओं (research student) को शैक्षणिक विशेषज्ञता और तकनीकी योग्यता प्राप्त होगी।
  • यह शोध छात्र को जिला कौशल समितियों (District Skills Committees) से जुड़ने में भी मदद करेगा।
  • कौशल विकास मंत्रालय ने केरल इंस्टीट्यूट ऑफ लोकल एडमिनिस्ट्रेशन के साथ भी हाथ मिलाया है ताकि तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी और लक्षद्वीप राज्यों के जिला अधिकारियों के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रमों का संचालन किया जा सके।
  • मंत्रालय ने इस बात पर प्रकाश डाला कि, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के हालिया लॉन्च के साथ-साथ IITs, IIM, KILA और GIZ-IGVET के साथ SANKALP योजना के तहत इस फेलोशिप कार्यक्रम से जिलों को सशक्त बनाने में मदद मिलेगी और मांग को संचालित करने में मदद मिलेगी।

SANKALP योजना 

SANKALP योजना "आजीविका संवर्धन के लिए कौशल और ज्ञान जागरूकता" अधिग्रहण के लिए है। इस कार्यक्रम को विश्व बैंक ऋण द्वारा सहायता प्रदान की जाती है। यह योजना जिला कौशल प्रशासन और जिला कौशल समितियों (डीएससी) को मजबूत करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी।


महात्मा गांधी राष्ट्रीय फैलोशिप (MGNF) कार्यक्रम

एमजीएनएफ दो साल का फेलोशिप प्रोग्राम है। इसे जिला स्तर पर कौशल विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू किया गया था। इसे SANKALP योजना के तहत डिजाइन किया गया है। इस कार्यक्रम के तहत, शोध छात्र (research student) को दाखिला लेने के लिए 21 से 30 वर्ष के बीच की आयु होनी चाहिए।