1 जनवरी 2021 से FASTags अनिवार्य -MoRTH ! FASTag to be mandatory for all four-wheelers

भारत सरकार के, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने 1 जनवरी 2021 से सभी चार पहिया वाहनों के लिए FASTags अनिवार्य कर दिया है। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 6 नवंबर को इस बारे में एक आधिकारिक अधिसूचना जारी की और यह भी स्पष्ट किया कि यह पुराने वाहनों पर भी लागू होगा।

fastag mandatory from 1 January 2021  in hindi
Fastags Mandatory


महताबपूर्ण बिन्दु 

 FASTags अपनेआप  टोल इकठ्ठा करने  के लिए prepaid  टैग हैं। इन्हें आमतौर पर        वाहनों के Windscreen पर लगाया जाता है। 

FASTags रिचार्जेबल हैं। जब भी वाहन टोल केंद्र क्षेत्रों से गुजरेंगे तो टोल की राशि अपने आप कट जाएगी।

 FASTags रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक पर काम करते हैं।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने 1 दिसंबर, 2017 से पहले बेचे जाने वाले सभी चार पहिया और पुराने M और N श्रेणी के वाहनों के लिए FASTags अनिवार्य कर दिया है।

यह केंद्रीय मोटर वाहन नियम (CMVR), 1989 में संशोधन करके किया गया है।

सीएमवीआर 1989 के अनुसार, 1 दिसंबर, 2017 से नए चार  पहिया वाहनों के पंजीकरण के लिए FASTags अनिवार्य हैं।

अक्टूबर 2019 से, FASTags  सभी राष्ट्रीय परमिट वाहनों के लिए अनिवार्य हैं।

सरकार ने अधिसूचना में कहा कि FASTag को FORM 51 में एक संशोधन के माध्यम से नए तीसरे पक्ष के बीमा प्राप्त करने के लिए अनिवार्य होगा। यह 1 अप्रैल, 2021 से लागू होगा।

सरकार ने कहा कि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से FASTags की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। इसके अलावा, टोल संग्रह में समस्या को दूर करने और उचित यातायात आंदोलन सुनिश्चित करने के लिए, पैन-इंडिया आधार पर राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम लागू किया गया है।


Previous Post
Next Post
Related Posts