भारत ने सीरिया को 2000 मीट्रिक टन चावल भेंट किए

 भारत सरकार ने मध्य पूर्व के देशों के साथ खाद्य सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सीरिया को 2000 मीट्रिक टन चावल उपहार में दिया। 

प्रमुख बिंदु 

  • विदेश मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि 1000 मीट्रिक टन चावल की पहली भेंट सीरिया को सौंप दी गई है।
  • खेप हिफज़ुर रहमान ने सौंपी थी जो सीरिया में भारत के राजदूत हैं।
  • सीरिया की ओर से, खेप हुसैन मखलौफ को मिली थी जो स्थानीय प्रशासन मंत्री और सुप्रीम रिलीफ कमेटी के प्रमुख हैं।
  • मंत्रालय ने आगे कहा कि, शेष 1000 मीट्रिक टन की खेप 18 फरवरी को सीरिया पहुंच जाएगी।
  • सीरिया की सरकार की तरफ से आपातकालीन मानवीय सहायता के अनुरोध के बाद भारत सीरिया को सहायता प्रदान कर रहा है।

भारत-सीरिया संबंध

  • विदेश मंत्रालय ने कहा कि; भारत हमेशा सीरिया के लोगों के साथ एकजुटता में खड़ा रहा है। सीरिया में विकास और क्षमता निर्माण परियोजना के माध्यम से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध जारी रहे। यह देश में आंतरिक संघर्षों के दौरान भी जारी रहा।

  • भारत ने जुलाई 2020 में सीरिया को COVID सहायता के रूप में 10 मीट्रिक टन दवाएँ भेंट कीं।
  • भारत ने जनवरी 2020 में दमिश्क में कृत्रिम अंग फिटमेंट कैंप का आयोजन किया था। शिविर में 500 से अधिक सीरियाई लोगों को फायदा हुआ था। इस शिविर का आयोजन विदेश मंत्रालय ने भगवान महावीर विकलांग सहयोग समिति के साथ मिलकर किया था।
  •  वर्ष 2018-2019 और 2019-2020 के दौरान, भारतीय विश्वविद्यालयों में स्नातक, परास्नातक और पोस्ट-डॉक्टरल कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए लगभग 1000 सीरियाई छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की गई।
  • भारत दमिश्क में सूचना प्रौद्योगिकी के लिए नेक्स्टजेन सेंटर भी स्थापित कर रहा है। इसके लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी गई है।

Previous Post
Next Post
Related Posts